Monday, July 22, 2024
spot_imgspot_img
Homeउत्तराखण्ड़उत्तराखंड के जंगलों में भड़की आग को बुझाने की कोशिश जारी, 5...

उत्तराखंड के जंगलों में भड़की आग को बुझाने की कोशिश जारी, 5 गिरफ्तार, अब तक 196 केस दर्ज

23 लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज किया गया है। यही नहीं 29 लोगों की गिरफ्तारी भी की गई है। पढ़े यह रिपोर्ट

*उत्तराखंड के जंगलों में भड़की आग *

उत्तराखंड के जंगलों में भड़की आग बुझाने का काम रविवार को दूसरे दिन भी लगातार जारी रहा। इस काम में दूसरे दिन भी एयरफोर्स के हेलीकॉप्टरों की मदद ली गई। कई इलाकों में आग पर काबू पा लिया गया जबकि गढ़वाल के खिसूं जंगल में आग लगाने की कोशिश करते पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वन अधिकारियों ने बताया कि नैनीताल, हल्द्वानी और चंपावत वन प्रभागों के जंगलों समेत अन्य वन क्षेत्रों में भड़की आग को बुझाने की कोशिशें युद्धस्तर पर जारी हैं।

वनाग्नि की आठ नई घटनाएं सामने आई:-वन विभाग की ओर से जारी अपडेट के अनुसार, बीते 24 घंटों के दौरान प्रदेश भर में वनाग्नि की आठ नई घटनाएं सामने आई हैं।

  • इसमें से चार कुमाउं क्षेत्र में,
  • दो गढ़वाल क्षेत्र में जबकि दो अन्य वन्यजीव क्षेत्रों में हैं। इनसे 11.75 हेक्टेयर जंगल क्षेत्र प्रभावित हुआ है।
  • चंपावत, नैनीताल और हल्द्वानी वन प्रभाग में सुबह आग लगने की सूचना मिली थी जिसमें से 60 फीसदी से ज्यादा जगहों पर आग बुझाई चुकी है। बाकी जगहों पर कोशिशें जारी हैं।

वन विभाग का कहना है कि जंगल की आग अब काबू मे आ रही है। नैनीताल के पास लड़ियाकाटा और पाइन्स के जंगलो में लगी आग बुझाने के लिए एक एमआई-17वी 5 हेलीकॉप्टर की सहायता ली गई। आग शुक्रवार को सुबह लगी थी और हाईकोर्ट कॉलोनी के पास तक पहुंच गई थी। यही नहीं इससे इलाके में यातायात भी प्रभावित हो रहा था। आग के एयरफोर्स बेस के पास पहुंचने की आशंका गहरा गई थी। इसे देखते हुए हेलीकॉप्टर की सेवाएं ली गईं। और इसने नैनी झील और भीमताल से पानी लेकर प्रभावित क्षेत्र में डाला।

बता दें कि उत्तराखंड में मवेशियों के लिए नई घास उगाने के लिए जंगलों में आग लगाने की कुप्रथा भी है। इसके खिलाफ लोगों को जागरूक किया जा रहा है। जंगल में आग लगाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जा रही है।

गढ़वाल वन प्रभाग की खिसू रेंज में रविवार को जंगलों में आग लगाने की कोशिश करते हुए 5 लोगों को वनकर्मियों ने गिरफ्तार कर लिया। इनके खिलाफ भारतीय वन अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है। प्रदेश में 196 लोगों के खिलाफ वन अधिनियम के तहत केस दर्ज किया जा चुका है।

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 23 लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज किया गया है। यही नहीं 29 लोगों की गिरफ्तारी भी की गई है।

वन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की छुट्टी रद्द:- उत्तराखंड सरकार ने वन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को 15 जून तक छुट्टियां नहीं देने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जब तक जंगलों में आग पर पूरी तरह काबू नहीं पा लिया जाता तब तक वन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की छुट्टी रद्द रहेंगी। कर्मचारियों- अधिकारियों को केवल गंभीर बीमारियों में ही छुट्टी प्रदान की जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments