Tuesday, July 16, 2024
spot_imgspot_img
Homeउत्तराखण्ड़रुलाने के तैयार है प्याज, कीमतें शतक के करीब पहुंची, क्या है...

रुलाने के तैयार है प्याज, कीमतें शतक के करीब पहुंची, क्या है दाम में तेजी की वजह?

आज उत्तराखण्ड़ के देहरादून, हरिद्वार एंव रूड़की समेत कई शहरो में 70 से 80 रूपयें किलो बिका प्याज , दीपावली पर रूलाएगा प्याज

रुलाने के तैयार है प्याज, कीमतें शतक के करीब पहुंची, क्या है दाम में तेजी की वजह?
प्याज की कीमतों में पिछले 15 दिनों में तेजी देखने को मिल रही है. विक्रेताओं का कहना है कि सप्लाई घटने और मांग बढ़ने के कारण ऐसा हो रहा है और अभी आगे कुछ और दिन ऐसा चलता रहेगा.
असमान्य बारिश को बताया गया प्याज की कीमत में तेजी का कारण.
प्याज की कीमत में हर दिन 10-20 रुपये का इजाफा हो रहा है.
आज उत्तराखण्ड़ के देहरादून, हरिद्वार एंव रूड़की समेत कई शहरो में 70 से 80 रूपयें किलो बिका प्याज,
ओर अधिक तेज होने की सम्भावना

देशभर में अचानक प्याज की कीमतों में तेजी देखने को मिल रही है. दिल्ली में 27 अक्टूबर को प्याज 90 रुपये प्रति किलो के भाव से बिका. ऐसी आशंका जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में यह 100 रुपये के आंकड़े को पार कर जाएगा. खरीदारों और प्याज विक्रेताओं की मानें तो प्याज की कीमतों में हर दिन 20 रुपये तक का इजाफा हो रहा है. दिल्ली के आरके पुरम में शुक्रवार को प्याज 90 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव से बिका.
दिल्ली ही नहीं, एनसीआर के दूसरे शहरों में भी प्याज की कीमतों का यही हाल है. गाजियाबाद में प्याज की कीमत 80 रुपये तक पहुंच चुकी है आज उत्तराखण्ड़ के देहरादून, हरिद्वार एंव रूड़की समेत कई शहरो में 70 से 80 रूपयें किलो बिका प्याज
यहां प्याज की कीमतों में 30 से 50 रुपये का इजाफा देखने को मिला है. एक हफ्ते पहले ही यहां प्याज की कीमत 35 रुपये किलोग्राम तक थी. त्योहारी सीजन के बीच में प्याज की कीमतें बढ़ने से रंग में भंग पड़ सकता है.
कीमतों में तेजी रहेगी जारी
मंडी में थोक विक्रेताओं का कहना है कि अगले 15-20 तक प्याज की कीमतों में तेजी बनी रहेगी. इसके पीछे की वह बारिश की असमान्य स्थिति है. कहीं कम तो कहीं बहुत अधिक बारिश होने के कारण फसलों को नुकसान पहुंचा है और किल्लत होने से प्याज की कीमत में बढ़ोतरी दिख रही है. दिल्ली की आजादपुर मंडी में जहां प्याज 20-30 रुपये प्रति किलोग्राम मिल रहा था वहां आज प्याज 70 रुपये तक पहुंच चुका है. प्याज की आवक में लगातार गिरावट हो रही है तो दूसरी ओर इसकी मांग बढ़ रही है. मांग बढ़ने और सप्लाई घटने से दाम में तेजी होना तय है.

बफर स्टॉक से निकाला जा रहा प्याज
सरकार के अनुसार, जिन राज्यों में कीमतों में तेज वृद्धि हो रही है वहां थोक और खुदरा दोनों बाजारों में बफर प्याज से प्याज दिया जा रहा है. अगस्त के मध्य से 22 राज्यों में विभिन्न स्थानों पर बफर प्याज से करीब 1.7 लाख टन प्याज दिया गया. खुदरा बाजारों में, बफर प्याज के प्याज को दो सहकारी निकायों भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ (एनसीसीएफ) और भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ (एनएएफईडी) की दुकानों तथा वाहनों के जरिए 25 रुपये प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर बेचा जा रहा है. दिल्ली में भी बफर प्याज का प्याज इसी रियायती दर पर बेचा जा रहा है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments