Tuesday, July 16, 2024
spot_imgspot_img
Homeउत्तराखण्ड़शीतकाल के लिए चारधामों के कपाट बंद करने की तैयारियां शुरू ।

शीतकाल के लिए चारधामों के कपाट बंद करने की तैयारियां शुरू ।

उत्तराखंड चार धाम यात्रा 2023 नवंबर मे विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल में बंद किए गए । मुखबा के लिए रवाना हुई मां गंगा की डोली ।

 

शीतकाल के लिए गंगोत्री धाम के कपाट आज श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए गए। मां गंगा की डोली मुखवा के लिए रवाना हो गई है ।

जबकि 15 नवंबर को बाबा केदार और यमुनोत्री मंदिर के कपाट विधि विधान से बंद होंगे। धार्मिक परंपरा के अनुसार, पूजा-अर्चना और भोग लगने के बाद धाम परिसर में स्थित भगवान गणेश मंदिर के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाएंगे। जबकि बदरीनाथ धाम के कपाट 18 नवंबर को अपराह्न 3 बजकर 33 मिनट पर बंंद किए जाएंगे।इस अवसर पर रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी, श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति उपाध्यक्ष किशोर पंवार, धर्माधिकारी राधाकृष्ण थपलियाल, मंदिर अधिकारी राजेंद्र चौहान, वेदपाठी रविन्द्र भट्ट, राजेंद्र सेमवाल मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़, केदार सिंह रावत, संजय थपलियाल, सतीश मैखुरी, राजेंद्र पुरोहित, हरेंद्र कोठारी आदि मौजूद रहे।मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि पंच पूजाओं के अंतर्गत दूसरे दिन बुद्धवार को आदि केदारेश्वर मंदिर के कपाट बंद होंगे।कुबेर जी भी बामणी गांव से पांडुकेश्वर प्रस्थान करेंगे। उद्धव जी योग बदरी मंदिर और कुबेर जी अपने पांडुकेश्वर स्थित मंदिर में अगले छह मास प्रवास करेंगे, जबकि गरुड़ जी जोशीमठ प्रवास करेंगे। 20 नवंबर को आदि गुरु शंकराचार्य की गद्दी पांडुकेश्वर स्थित योग बदरी से श्री नृसिंह मंदिर जोशीमठ पहुंचेगी। चार धाम यात्रा में तीर्थ यात्रियों के दर्शन का इस साल नया रिकॉर्ड बना है । केदारनाथ , बद्रीनाथ , गंगोत्री सहित चारों धामों में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 55 लाख के पार पहुंच गई है ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments