Tuesday, July 16, 2024
spot_imgspot_img
Homeउत्तराखण्ड़टनल में फंसे 40 लोगो की जान कैसे बचेगी , उत्तरकाशी में...

टनल में फंसे 40 लोगो की जान कैसे बचेगी , उत्तरकाशी में फेल हुए सारे प्लान, तब जागा प्रशासन दिल्ली से मंगाई ये खास मशीने ।

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में 100 घंटे से ज्यादा का वक्त बीत चुका है. लेकिन सुरंग में फंसे 40 लोगों की जिंदगी अब तक खतरे में है. उन्हें सुरंग से बाहर निकालने में कामयाबी नहीं मिल पाई है. मजदूरों को बचाने के लिए करीब 200 लोगों की टीम पसीना बहा रही है. 25 टन की हैवी ड्रिल मशीन मगवाई गई है. ड्रिल कर मलबे के बीचोबीच पाइल सेट किया जाएगा, जिसकी मदद से मजदूरों को बाहर निकालने की कोशिश होगी.

उत्तरकाशी टनल हादसे में दीपावली से ही 40 मजदूर मलबे में फंसे हैं। मजदूरों को बाहर निकालने के लिए लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है लेकिन इसमें कई बाधाएं आ रही हैं। कभी भूस्खलन तो कभी मशीन की खराबी के बीच अब यहां भूकंप के झटके भी महसूस किए गए हैं। इस बीच अब यूपी और झारखंड की टीमें रेस्क्यू के लिए पहुंच गई हैं।

सिलक्यारा टनल साइट पर नई जैक एंड पुश अर्थ ऑगर मशीन के इंस्टॉलेशन का काम पूरा हो गया है। जल्द ड्रिलिंग शुरू होने की उम्मीद है। राहत एवं बचाव मिशन के प्रभारी कर्नल दीपक पाटिल का कहना है कि अमेरिका में बनी जैक एंड पुश अर्थ ऑगर मशीन पुरानी मशीन से काफी एडवांस है, जो काफी स्पीड में काम करेगी। राहत एवं बचाव ऑपरेशन में अब मिलिट्री ऑपरेशन की टीम भी शामिल हो गई है। इसके साथ वायुसेना, थल सेना भी बचाव अभियान में मदद कर रही है।

सीएम धामी ने लिया रेस्क्यू का अपडेट
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी इंदौर से देर रात देहरादून पहुंचे। इसके बाद उन्होंने उत्तरकाशी के सिल्कयारा में निर्माणाधीन सुरंग में चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन का अपडेट लिया और मुख्य सचिव को अलर्ट रहने का निर्देश दिया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments