Tuesday, July 16, 2024
spot_imgspot_img
Homeअर्न्तराष्ट्रीयक्यों मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस आईये जाने इसका इतिहास

क्यों मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस आईये जाने इसका इतिहास

सालों से  दुनिया भर में आज के दिन अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस बनाते हैं क्या आप जानते हैं कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस क्यों बनाया जाता है और यह मानना कब शुरू हुआ?

आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस है इस खास मौके पर दुनिया भर मैं हर क्षेत्रमें महिलाओं के प्रत प्रति समन सम्मान त्याग साहस प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए उनकी उपलब्धियां को याद किया जा रहा है भारत में महिला दिवस को का खास महत्व है हर साल 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के.रूप में मनाया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि महिला दिवस मनाने के लिए 8 मार्च को ही क्यों चुना गया।

सालों से  दुनिया भर में आज के दिन अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस बनाते हैं क्या आप जानते हैं कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस क्यों बनाया जाता है और यह मानना कब शुरू हुआ?

दरअसल अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस एक मजदूर आंदोलन के रूप में 1908 में शुरू हुआ था जब 15000 औरतों ने न्यूयॉर्क शहर में मोर्चा निकालकर नौकरी में काम घंटे की मांग की थी इसके अलावा उनकी मांग थी उन्हें बेहतर वेतन दिया जाए और मतदान करने का अधिकार भी मिले । 1 साल बाद सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने इस दिन को पहले राष्ट्रीय महिला दिवस घोषित कर दिय यह सुझाव एक महीने का ही था क्लारा जेडकिन ने 1910 में  कोपेनहेगिन में कामकाजी महिलाओं की एक इंटरनेशनल कांफ्रेंस के दौरान अंतरराष्ट्रीय महिलादिवस बनाने का सुझाव दिया उसे वक्त कॉन्फ्रेंस में 17 देशों की 100 महिलाएं मौजूद थी उन सभी ने इस सुझाव का  समर्थन किया।

सबसे पहले अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्जरलैंड में बनाया गया था

1975 में महिलाएं दिवस को आधिकारिक मान्यता उसे वक्त दी गई जब संयुक्त राष्ट्रने इस वार्षिक तौर पर इस एक थीम के साथ बनाना शुरू किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पहली थीम थी सेलिब्रेटिंग दा पास्ट प्लानिंग ऑफ़ द फ्यूचर ।

8मार्च को ही महिला दिवस क्यों बनाया जाता है?

दरअसल क्लारा जकिन ने महिला दिवस बनाने के लिए कोई तारीख पक्की नहीं की थी 1917 में युद्ध के दौरान रूस की महिलाओं ने खाना और शक्ति की मांग की थी महिलाओं की हड़ताल ने वहां के सम्राट जेनिकॉल्स को पद छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया और आंतरिक सरकार ने महिलाओं को मतदान करने का अधिकार दे दिया, उसे समय रूस में जूलियन कैलेंडर का प्रयोग होता था जिस दिन महिलाओं ने यहां हड़ताल की वह तारीख 23 फरवरी थी  ग्रेगॅरियन कैलेंडर के अनुसार यह दिन 8 मार्च का था और इसके बाद से अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को बनाए जाने लगा।

कई देशों में इस दिन राष्ट्रीय स्तर पर अवकाश की घोषणा की जाती है चीन में ज्यादातर दफ्तर में महिलाओं के लिए छुट्टी की घोषणा की जाती है वहीं अमेरिका में मार्च का महीना वूमेनहिस्ट्री मंथ के तौर पर बनाया जाता है

इस बार अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम:- इंस्पायर इक्लूजन (inspire inclusion )( एक ऐसी दुनिया जहां हर किसी को बराबर का हक और सम्मान मिले)

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments