Tuesday, July 16, 2024
spot_imgspot_img
Homeउत्तराखण्ड़हरिद्वार और गढ़वाल सीट पर नए चेहरों की एंट्री, तीरथ और निशंक...

हरिद्वार और गढ़वाल सीट पर नए चेहरों की एंट्री, तीरथ और निशंक का कटा टिकट, 

बसपा और कांग्रेस की वोट बैंक में सेंधमारी करने के लिए उमेश कुमार की जद्दोजहद जारी जिससे इनडायरेक्ट भारतीय जनता पार्टी को फायदा पहुंचाने की संभावना।

  1. देहरादूनः- उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने सभी पांच सीटों के लिए प्रत्याशियों के नाम फाइनल कर दिए हैं. तीन लोकसभा सीटों पर पहले ही भारतीय जनता पार्टी ने नाम तय कर दिए थे और इन पर मौजूदा सांसदों को ही एक बार फिर टिकट दिया था. वहीं दूसरी सूची में पार्टी ने दो लोकसभा सीट पर सांसदों के टिकट काटते हुए नए चेहरों को तवज्जो दी है

रमेश पोखरियाल आउट त्रिवेंद्र सिंह रावत इन:-

हरिद्वार लोकसभा सीट पर रमेश पोखरियाल निशंक का टिकट काट दिया है और उनकी जगह त्रिवेंद्र सिंह रावत को टिकट दिया गया है. जबकि गढ़वाल से तीरथ सिंह रावत पर भरोसा ना जताकर अनिल बलूनी को टिकट दिया गया है।

 कौन हैं त्रिवेंद्र सिंह रावत ?

  • जन्म-20 दिसंबर 1960 पौड़ी गढ़वाल में
  • शिक्षा श्रीनगर गढ़वाल विश्वविद्यालय से परास्नातक की उपाधि
  • राजनीतिक जीवन:-
  • 1979 राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े
  • 1993 में वह भाजपा के क्षेत्रीय संगठन मंत्री
  • 1997 भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री
  • 2002 विधानसभा चुनाव में डोईवाला विधानसभा से जीते
  • 2007 डोईवाला विस से चुनाव जीते, मंत्री बनें
  • 2012 में रायपुर विस से चुनाव हारे
  • भाजपा के राष्ट्रीय सचिव रहे, झारखंड व यूपी के सह प्रभारी रहे
  • 17 मार्च 2017 को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बने
  • मार्च 2021 में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया
  • 2022 के चुनाव पार्टी ने उन्हें डोईवाला से टिकट नहीं दिया

“हरिद्वार से मेरा आत्मीय नाता- त्रिवेंद्र

मां गंगा के द्वार हरिद्वार से मेरा आत्मीय नाता रहा है। इसी लोस के डोईवाला विस की जनता ने मुझे विधायक, मंत्री और मुख्यमंत्री तक पहुंचाया। उनका प्यार सदा मेरे साथ रहा। मैंने भी उनके भरोसे को कभी टूटने नहीं दिया। पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता से वर्षों तक एक जनसेवक के रूप में अपने कर्तव्यों का पालन किया ताकि कभी भी मेरे कारण उन्हें सिर झुकाना पड़े। पार्टी ने मुझे हरिद्वार लोस की सेवा करने का मौका दिया, इसके लिए पीएम मोदी व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का आभार प्रकट करता हूं।

– त्रिवेंद्र सिंह रावत, प्रत्याशी, भाजपा”

तीरथ आउट बलूनी इन:-

दूसरी सीट गढ़वाल लोकसभा है जहां पर मौजूदा सांसद तीरथ सिंह रावत का टिकट काटकर अनिल बलूनी को दिया गया है अनिल बलूनी, राष्ट्रीय भाजपा के मीडिया प्रभारी हैं. यही नहीं, उन्होंने उत्तराखंड में राज्यसभा सांसद के रूप में भी काम किया है. अनिल बलूनी, पार्टी हाईकमान में काफी पकड़ रखते हैं और वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह तक भी सीधी पहुंच रखते हैं. लिहाजा, इसी वजह से उन्हें गढ़वाल लोकसभा सीट में एंट्री दी गई है

MLA Umesh Kumar

उमेश कुमार को लोकसभा में माहौल बनाने में उनके छूट रहे पसीने:-

खानपुर विधानसभा चुनाव में निर्दलीय चुनाव लडने के दौरान उमेश कुमार ने साम दाम दंड भेद के जरिए माहौल बना लिया था। यह माहौल प्रणव सिंह के खिलाफ था और भाजपा के एक गुट का भी समर्थन उमेश कुमार को मिल गया था लिहाजा खानपुर में उमेश कुमार को ज्यादा दिक्कतें नही आई।

 

देहात के कुछ इलाकों को छोड दें तो शहरी और अधिकतर लोकसभा क्षेत्रों में पहुंच बना रहे हैं। हालांकि उमेश कुमार अपने धनबल और प्रोपेगेंडा के बलबूते माहौल बनाने का प्रयास कर रहे हैं

बसपा और कांग्रेस की वोट बैंक में सेंधमारी करने के लिए उमेश कुमार की जद्दोजहद जारी जिससे इनडायरेक्ट भारतीय जनता पार्टी को फायदा पहुंचाने की संभावना।

राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार उमेश कुमार लोकसभा में सबसे ज्यादा अनुसूचित जाति की वोटो और मुस्लिम वोटो को साधने में लगे हुए हैं वह केवल इन्हीं दोनों पर अपना फोकस मानकर चल रहे हैं इससे उमेश कुमार का तो पता नहीं परंतु कांग्रेस को नुकसान और भारतीय जनता पार्टी को फायदा पहुंच सकता है क्योंकि यदि बसपा ने मजबूत लोकसभा कैंडिडेट को टिकट नहीं दिया तो मुस्लिम वोटो के साथ-साथ अनुसूचित जाति की वोट भी कांग्रेस पर डालने की संभावना बनी रहती है और यही हरिद्वार लोकसभा सीट के सबसे मजबूत वोट बैंक है । इससे यदि यह दोनों वोट बैंक कुछ हद तक कांग्रेस तथा कुछ बसपा व उमेश कुमार को ट्रांसफर हो गए तो इससे भारतीय जनता पार्टी का जितना लगभग तय है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments